आपकी सुरक्षा

हमारे द्वारा की जाने वाली सभी चीज़ों में आपकी सुरक्षा पहले आती है.

यदि आपका डेटा सुरक्षित नहीं है, तो वह निजी नहीं है. यही कारण है कि हम यह सुनिश्चित करते हैं कि खोज, मानचित्र और YouTube जैसी Google सेवाएं, विश्व की सबसे उन्नत सुरक्षा अवसंरचनाओं में से एक द्वारा सुरक्षित हों.

एन्क्रिप्शन ट्रांज़िट के दौरान आपके डेटा को निजी बनाए रखता है

एन्क्रिप्शन आपके द्वारा उपयोग की जाने वाली सेवाओं में उच्च स्तर की सुरक्षा और गोपनीयता प्रदान करता है. जब आप कोई ईमेल भेजने, वीडियो साझा करने, वेबसाइट पर जाने या अपनी फ़ोटो संग्रहित करने जैसे कार्य करते हैं, तो आपके द्वारा बनाया गया डेटा आपके डिवाइस, Google सेवाओं और हमारे डेटा केंद्रों के बीच स्थानांतरित होता है. हम HTTPS और ट्रांसपोर्ट लेयर सिक्योरिटी जैसी प्रमुख एन्क्रिप्शन प्रौद्योगिकी सहित एकाधिक सुरक्षा स्तरों के साथ इस डेटा की सुरक्षा करते हैं.

हमारी क्लाउड अवसंरचना आपके डेटा की 24/7 सुरक्षा करती हैं

कस्टम-डिज़ाइन डेटा केंद्रों से लेकर, नीचे समुद्र में लगाए गए फ़ाइबर केबल तक जिनमें महाद्वीपों के बीच डेटा ट्रांसफ़र होता है, Google दुनिया की सबसे सुरक्षित और विश्वसनीय क्लाउड अवसंचनाओं में से एक का संचालन करता है. और आपके डेटा को सुरक्षित करने और जब आपको उसकी आवश्यकता हो तब उसे उपलब्ध बनाने के लिए लगातार उसे मॉनीटर किया जाता है. वास्तव में, हम डेटा को एक से अधिक डेटा केंद्रों में वितरित करते हैं, ताकि आग लगने या आपदा की स्थित उत्पन्न होने पर, उसे अपने आप और बिना किसी बाधा के स्थायी और सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा सके.

खतरे की पहचान हमारी सेवाओं को सुरक्षित करने में सहायता करती है

हम स्पैम, मैलवेयर, वायरस और दुर्भावनापूर्ण कोड के अन्य स्वरूपों सहित खतरों से अपनी सेवाओं और अंतर्निहित अवसंरचनाओं की सुरक्षा करने के लिए लगातार उन्हें मॉनीटर करते रहते हैं.

हम सरकार को आपके डेटा तक सीधी एक्सेस प्रदान नहीं करते हैं

हम आपके डेटा पर या आपके डेटा को संग्रहीत करने वाले हमारे सर्वर पर कभी भी किसी को अमान्य रूप से एक्सेस प्रदान नहीं करते हैं. बात खत्म. इसका मतलब किसी भी सरकारी निकाय, अमेरिकी या अन्य किसी के पास भी हमारे उपयोगकर्ताओं की जानकारी पर सीधी एक्सेस नहीं है. ऐसा कई बार हुआ है, जब हमें कानून प्रवर्तन एजेंसियों से उपयोगकर्ताओं के डेटा के लिए अनुरोध प्राप्त हुआ है. हमारी कानूनी टीम इन अनुरोध की समीक्षा करती है और अगर कोई अनुरोध बहुत व्यापक होता है या सही प्रक्रिया का पालन नहीं करता है, तो उसे वापस लौटा देती है. हमने हमारी पारदर्शिता रिपोर्ट में इन डेटा अनुरोधों के प्रति खुला रवैया अपनाने के लिए कड़ी मेहनत की है.

एन्क्रिप्शन फ़ोटो के बाहर निकले एफ़िल टॉवर के समान विस्तृत है

Gmail एन्क्रिप्शन ईमेल को निजी बनाए रखता है

पहले दिन से, Gmail ने एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन का समर्थन किया है, जो कि दुर्भावनापूर्ण लोगों को आपके द्वारा भेजे जा रहे संदेशों को पढ़ना कठिन बनाता है. जब आपको कोई ऐसा ईमेल मिलता है जो एन्क्रिप्ट किए गए कनेक्शन पर नहीं भेजा गया था, तो Gmail आपको ऐसे संभावित सुरक्षा जोखिमों के बारे में चेतावनी भी देता है.

Gmail ईमेल लिफ़ाफा सुरक्षा स्कैनर चेतावनी संकेत सेट करता है

Gmail स्पैम सुरक्षा संदिग्ध ईमेल को फ़िल्टर करती है

अधिकांश मैलवेयर और फ़िशिंग हमले एक ईमेल से प्रारंभ होते हैं. Gmail सुरक्षा अन्य किसी भी ईमेल सेवा की तुलना में आपकी स्पैम, फ़िशिंग और मैलवेयर से बेहतर सुरक्षा करती है. Gmail उपयोगकर्ताओं द्वारा स्पैम के रूप में चिह्नित ईमेल की विशेषताओं की पहचान करने के लिए अरबों संदेशों से तैयार पैटर्न का विश्लेषण करता है, फिर संदिग्ध या खतरनाक ईमेल को आप तक पहुंचने से पहले ही रोक कर अवरोधित करने के लिए उन मार्कर का उपयोग करता है. आप प्राप्त होने वाले संदिग्ध ईमेल के लिए "स्पैम की रिपोर्ट करें" का चयन करके हमारी सहायता कर सकते हैं.

मशीन शिक्षण और कृत्रिम बुद्धि Gmail के स्पैम फ़िल्टर को अधिक सटीक परिणाम प्रदान करने में सहायता करते हैं. ये अब आपके इनबॉक्स से 99.9% स्पैम को दूर रखता है.

सुरक्षा अपडेट प्रगति वाला Chrome ब्राउज़र

Chrome आपके ब्राउज़र की सुरक्षा को अपने आप अपडेट करता है

सुरक्षा प्रौद्योगिकियों में हमेशा से परिवर्तन होता रहा है, अतः सुरक्षित रहने का तात्पर्य है अद्यतित रहना. यही कारण है कि Chrome नियमित रूप से यह सुनिश्चित करने के लिए जांच करता है कि आप जिस ब्राउज़र का उपयोग कर रहे हैं उसका वर्शन नवीनतम सुरक्षा सुधारों, मैलवेयर और भ्रामक साइटों आदि के साथ अपडेट किया गया है. Chrome अपने आप अपडेट होता है, ताकि आपके पास आपकी रक्षा करने वाली नवीनतम Chrome सुरक्षा प्रौद्योगिकी हो.

हानिकारक ऐप्लिकेशन का डिवाइस पर चुपके से प्रवेश

Google Play संभावित हानिकारक ऐप्लिकेशन को आपके फ़ोन से दूर रखता है

आपके डिवाइस की सबसे बड़ी सुरक्षा कमज़ोरियों में से एक आपके द्वारा इंस्टॉल किए जाने वाले ऐप्लिकेशन हैं. हमारी पहचान प्रणाली संभावित रूप से हानिकारक ऐप्लिकेशन को Play स्टोर तक पहुंचने से पहले ही उन्हें फ़्लैग कर देती है. यदि हमें यकीन नहीं है कि कोई ऐप्लिकेशन सुरक्षित है या नहीं, तो Android सुरक्षा टीम के सदस्यों द्वारा इसकी मैन्युअल रूप से समीक्षा की जाती है. चूंकि हम अपनी पहचान प्रणाली को परिष्कृत करते रहते हैं, इसलिए हम उन ऐप्लिकेशन का पुनर्मूल्यांकन करते हैं जो पहले से ही Google Play पर है और संभावित हानिकारक ऐप्लिकेशन को निकालते हैं ताकि वे आपके डिवाइस को हानि न पहुंचाए.

Google दुर्भावनापूर्ण और भ्रामक विज्ञापनों को अवरोधित करता है

मैलवेयर वाले विज्ञापन, आप जो सामग्री देखना चाहते हैं उन्हें शामिल करने वाले विज्ञापन, नकली सामान का प्रचार करने वाले विज्ञापन या अन्य प्रकार से हमारी विज्ञापन नीतियों का उल्लंघन करने का प्रयास करने वाले विज्ञापनों से आपका ऑनलाइन अनुभव बाधित हो सकता है. हम इस समस्या को बहुत गंभीरता से लेते हैं. हर वर्ष हमारे लाइव समीक्षक और अत्याधुनिक सॉफ़्टवेयर के संयोजन से एक अरब के करीब दुर्भावनापूर्ण विज्ञापनों को अवरोधित किया जाता है. हम आपको आपत्तिजनक विज्ञापनों की रिपोर्ट करने और आपके द्वारा देखे जाने वाले विज्ञापनों के प्रकार पर नियंत्रण करने के लिए टूल भी प्रदान करते हैं. और सभी के लिए इंटरनेट को सुरक्षित बनाने हेतु सहायता करने के लिए सक्रिय रूप से हम हमारी जानकारियों और सर्वोत्तम प्रक्रियाओं को प्रकाशित करते हैं.

आपको ऑनलाइन सुरक्षित रहने में सहायता करने के लिए मुख्य सलाहें

इन झटपट सलाहों की मदद से अपने ऑनलाइन खाते और व्यक्तिगत डेटा को सुरक्षित रखें.

  • अपने डिवाइसों की सुरक्षा करें

  • फ़िशिंग की कोशिशों से बचें

  • सुरक्षित रूप से इंटरनेट ब्राउज़ करें

Google सुरक्षा शील्ड और चेकलिस्ट

मज़बूत पासवर्ड बनाएं

अपने ऑनलाइन खातों की सुरक्षा के लिए उठाया जा सकने वाला आपका सबसे ज़रूरी कदम एक मज़बूत, सुरक्षित पासवर्ड बनाना है. आप यह काम शब्दों की ऐसी श्रृंखला का इस्तेमाल करके कर सकते हैं जिसे आप भूलें नहीं, लेकिन जिसका अनुमान लगाना अन्य लोगों के लिए कठिन हो. या कोई लंबा वाक्य लें और उसके हर शब्द के पहले अक्षर से एक पासवर्ड बनाएं. इसे और ज़्यादा मज़बूत बनाने के लिए उसमें कम से कम 8 वर्ण रखें, क्योंकि आपका पासवर्ड जितना ज़्यादा लंबा होता है, वह उतना ही ज़्यादा मज़बूत होता है.

अगर सुरक्षा सवालों के उत्तर बनाने के लिए कहा जाता है, तो ऐसे नकली उत्तरों का इस्तेमाल करने के बारे में सोचें जिनका अनुमान लगाना और भी कठिन हो.

कभी भी समान पासवर्ड का दो बार इस्तेमाल न करें

हर एक खाते के लिए अलग-अलग पासवर्ड का इस्तेमाल करें

आपका Google खाता, सामाजिक मीडिया प्रोफ़ाइल और खुदरा वेबसाइटों जैसे कई खातों में लॉग इन करने के लिए एक ही पासवर्ड का इस्तेमाल करने से आपका सुरक्षा जोखिम बढ़ जाता है. यह अपने घर, कार और कार्यालय के तालों के लिए एक ही चाबी का इस्तेमाल करने जैसा है – किसी व्यक्ति को एक का भी एक्सेस मिल जाने पर वह सभी की सुरक्षा जोखिम में डाल सकता है.

कई पासवर्ड पर नज़र रखें

Chrome ब्राउज़र में Google Smart Lock जैसा पासवर्ड प्रबंधक आपको सुरक्षा उपाय उपलब्ध कराने और आपके अलग-अलग ऑनलाइन खातों के सभी पासवर्ड पर नज़र रखने में सहायता करता है. यहां तक कि यह सुरक्षा सवालों के आपके उत्तरों पर भी नज़र रख सकता है और आपके लिए बेतरतीब पासवर्ड जनरेट कर सकता है.

2‑चरण में पुष्टि के ज़रिए हैकर से सुरक्षा पाएं

2-चरण में पुष्टि यह आपके खाते में लॉग इन करने के लिए उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड के अलावा दूसरे कारक का इस्तेमाल करना ज़रूरी बनाकर ऐसे सभी लोगों को दूर रखने में सहायता करता है जिन्हें आपका खाता एक्सेस नहीं करना चाहिए. उदाहरण के लिए, Google में यह छह अंकों का ऐसा कोड हो सकता है जिसे किसी भरोसेमंद डिवाइस से लॉगिन स्वीकार करने के लिए Google प्रमाणक ऐप से या आपके Google ऐप में किसी संकेत के ज़रिए जनरेट किया जाता है.

फ़िशिंग से अतिरिक्त सुरक्षा पाने के लिए, आप ऐसी वास्तविक सुरक्षा कुंजी का इस्तेमाल कर सकते हैं जो आपके कंप्यूटर के USB पोर्ट में डाली जाती है या NFC (नियर फ़ील्ड कम्यूनिकेशन) या ब्लूटूथ का इस्तेमाल करके आपके मोबाइल डिवाइस से कनेक्ट की जाती है.

अपना सॉफ़्टवेयर अप-टू-डेट रखें

खुद को सुरक्षा से जुड़े जोखिमों से बचाने के लिए, अपने सभी वेब ब्राउज़र, ऑपरेटिंग सिस्टम, प्लग इन या दस्तावेज़ संपादकों पर हमेशा अप-टू-डेट सॉफ़्टवेयर का इस्तेमाल करें. अपना सॉफ़्टवेयर अपडेट करने की सूचना मिलने पर उसे जल्द से जल्द अपडेट कर लें.

यह पक्का करने के लिए अपने नियमित रूप से इस्तेमाल किए जाने वाले सॉफ़्टवेयर की समीक्षा करें कि आप हमेशा सबसे नए उपलब्ध वर्शन ही चला रहे हैं. कुछ सेवाएं, जिनमें Chrome ब्राउज़र शामिल है, स्वयं को अपने आप अपडेट कर लेंगी.

स्क्रीन लॉक का इस्तेमाल करें

अपने कंप्यूटर, लैपटॉप, टैबलेट या फ़ोन का इस्तेमाल नहीं करते समय दूसरों को अपने डिवाइस का इस्तेमाल करने से रोकने के लिए अपनी स्क्रीन लॉक रखें. अतिरिक्त सुरक्षा के लिए, अपना डिवाइस बंद होने पर उसे अपने आप लॉक होने के लिए सेट करें.

अपना फ़ोन खो जाने पर उसे लॉक करें

अगर कभी आपका फ़ोन खो जाता है या चोरी हो जाता है, तो ऐसी स्थिति में कुछ झटपट चरणों का अनुसरण करके अपना डेटा सुरक्षित करने के लिए मेरा खाता पर जाएं और “अपना फ़ोन ढूढें” चुनें. चाहे आपके पास Android डिवाइस हो या iOS डिवाइस, आप अपने फ़ोन का दूर से ही पता लगा सकते हैं और उसे लॉक कर सकते हैं ताकि कोई भी आपके फ़ोन का इस्तेमाल नहीं कर सके और आपकी निजी जानकारी एक्सेस नहीं कर सके.

ब्राउज़र Chrome में पासवर्ड सुरक्षित दिखाता है

संभावित रूप से नुकसान पहुंचा सकने वाले ऐप को अपने फ़ोन से दूर रखें

अपने मोबाइल ऐप हमेशा ऐसे स्रोत से डाउनलोड करें जिस पर आपको विश्वास है. Android डिवाइसों को सुरक्षित रखने में सहायता के लिए, इससे पहले कि आप Google Play स्टोर से ऐप डाउनलोड करें, Google Play Protect उनकी सुरक्षा जांच चलाता है और अन्य स्रोतों से संभावित रूप से नुकसानदेह ऐप के लिए समय-समय पर आपके डिवाइस की जांच करता है.

अपना डेटा सुरक्षित रखने के लिए:

  • अपने ऐप की समीक्षा करें और जिन ऐप का आप इस्तेमाल नहीं करते हैं, उन्हें मिटा दें
  • अपनी ऐप स्टोर सेटिंग पर जाएं और अपने आप होने वाले अपडेट चालू करें
  • केवल ऐसे ऐप को अपने स्थान और फ़ोटो जैसे संवेदनशील डेटा का एक्सेस दें जिन पर आपको विश्वास है

ईमेल धोखाधड़ी, नकली इनामों और उपहारों से सावधान रहें

अनजान लोगों की ओर से आने वाले संदेश हमेशा संदिग्ध होते हैं, खास तौर से अगर वे बहुत ही विश्वसनीय दिखाई देते हैं — यानी कि वे ऐसी घोषणा करते हैं कि आपने कुछ जीता है, कोई सर्वे पूरा करने पर इनाम ऑफ़र करते हैं या झटपट पैसा कमाने के उपायों का प्रचार करते हैं. कभी भी संदिग्ध लिंक पर क्लिक नहीं करें और कभी भी संदिग्ध फ़ॉर्म और सर्वे में निजी जानकारी न डालें.

व्यक्तिगत जानकारी मांगने वालों से सावधान रहें

पासवर्ड, बैंक खाते और क्रेडिट कार्ड के नंबर या यहां तक कि आपके जन्मदिन तक जैसी निजी जानकारी मांगने वाले संदिग्ध ईमेल, फटाफट मैसेज या पॉप-अप विंडो का जवाब न दें. भले ही संदेश आपके बैंक जैसी किसी ऐसी साइट से आया हो जिस पर आप विश्वास करते हैं, कभी भी लिंक पर क्लिक न करें या जवाब में कोई संदेश न भेजें. अपने खाते में लॉग इन करने के लिए सीधे उनकी वेबसाइट या ऐप पर जाना ही बेहतर है.

याद रखें कि वैध साइटें और सेवाएं आपको ईमेल के ज़रिए पासवर्ड या वित्तीय जानकारी भेजने का अनुरोध करने वाले संदेश नहीं भेजेंगी.

प्रतिरूपण करने वालों से बचकर रहें

अगर आपको अपने किसी परिचित की ओर से ईमेल मिलता है, लेकिन संदेश अजीब लगता है, तो हो सकता है कि उनका खाता हैक कर लिया गया है.

इन चीज़ों की जांच करें:

  • तुरंत पैसे मांगे जाते हैं
  • व्यक्ति किसी दूसरे देश में फंसे होने का दावा कर रहा है
  • व्यक्ति का कहना है कि उनका फोन चोरी हो गया था और कॉल नहीं किया जा सकता है

जब तक कि आप ईमेल की वैधता की पुष्टि नहीं कर लें, तब तक संदेश का जवाब न दें या किसी भी लिंक पर क्लिक न करें.

डाउनलोड करने से पहले फ़ाइलों की दोबारा जांच कर लें

कुछ चालाक फ़िशिंग हमले संक्रमित दस्तावेज़ों और पीडीएफ़ अटैचमेंट के ज़रिए किए जा सकते हैं. अगर आपको कोई संदिग्ध अटैचमेंट मिलता है, तो उसे सुरक्षित रूप से खोलने के लिए Chrome या Google डिस्क का इस्तेमाल करें और अपना डिवाइस संक्रमित होने का जोखिम कम करें. अगर हमें वायरस का पता चलता है, तो हम आपको एक चेतावनी दिखाएंगे.

सुरक्षित नेटवर्क का इस्तेमाल करें

सार्वजनिक या मुफ़्त वाई-फ़ाई का इस्तेमाल करते समय सावधान रहें, भले ही उनके लिए पासवर्ड ज़रूरी हो. जब आप किसी सार्वजनिक नेटवर्क से कनेक्ट होते हैं, तो आस-पास का कोई भी व्यक्ति आपकी देखी जाने वाली वेबसाइटों और साइटों में आपकी लिखी गई जानकारी जैसी आपकी इंटरनेट गतिविधि पर नज़र रख सकता है. अगर सार्वजनिक या मुफ़्त वाई-फ़ाई ही आपका एकमात्र विकल्प है, तो Chrome ब्राउज़र आपको पता बार में यह बताएगा कि साइट सुरक्षित है या नहीं.

संवेदनशील जानकारी डालने से पहले सुरक्षित कनेक्शन देखें

वेब ब्राउज़ करते समय, खास तौर से जब आपको पासवर्ड या क्रेडिट कार्ड के विवरण जैसी संवेदनशील जानकारी डालने की ज़रूरत हो, तो यह पक्का कर लें कि आपकी देखी जाने वाली साइटों का कनेक्शन सुरक्षित है. सुरक्षित यूआरएल की शुरुआत HTTPS से होगी. Chrome ब्राउज़र, यूआरएल फ़ील्ड में एक हरे रंग का बंद ताले का आइकन दिखाएगा जिसके सामने “सुरक्षित” लिखा हुआ होगा. अगर वह सुरक्षित नहीं है, तो पता बार में “सुरक्षित नहीं” दिखाई देगा. HTTPS आपके ब्राउज़र या ऐप को आपकी देखी जाने वाली वेबसाइटों से सुरक्षित रूप से कनेक्ट करके आपकी ब्राउज़िंग सुरक्षित रखने में सहायता करता है.